Trending Posts

पेंशन प्रश्नावली

क्र संप्रश्नउतर
1पेंशन स्वीकृता अधिकारी कौन होता है  कार्मिक जिस विभाग में काम करता है वो विभाग ही पेंशन स्वीकृती कर्ता होता है। नियुक्ति अधिकारी द्वारा सेवानिवृत्ति आदेश जारी करने के पश्चात कार्यालयाध्यक्ष पेंशन प्रपत्र तैयार कर पेंशन विभाग को प्रस्तुत करता है तब पेंशन विभाग भुगतान हेतु अधिकृतियां जारी करता है ।  
2सेवानिवृत्ति कितने वर्ष की आयु में होती है ।  कार्मिक जब 60 वर्ष का हो जाता है ।  
3पेंशन कुलक कब भरना/भरवाना चाहिए ।  कार्मिक के सेवानिवृत्ति के 8 माह पूर्व, वित्त विभाग के आदेश दिनांक 1.3.2017 विस्तृत निर्देशों को भी पढ़े ।
4पेंशन कुलक पेंशन विभाग में कब प्रस्तुत किया जा सकता है ।  सेवानिवृत्ति तिथि से न्यूनतम 6 माह पूर्व ।  
5कार्मिक स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति के लिए कब आवेदन करने योग्य हो जाता है ।  कार्मिक जिसने 15 वर्षा की पेंशन योग्य सेवा पुरी करने पर ।  
6स्वैच्छिक सेवानिवृति का आवेदन किसे व कब करें ।  कार्मिक 3 माह पूर्व, नियुक्ति अधिकारी को उचित माध्यम से ।  
7स्वैच्छिक सेवानिवृति पर कितने वर्षों की नोशनल सेवा का लाभ मिलता है ।  1.07.2013 से स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति पर नोशनल सेवा का लाभ देय नहीं है, वास्तविक पेंशन योग्य सेवा के आधार पर पेंशन बनेगी।
8सेवानिवृत्ति आदेश कौन और कब जारी करेगा ।  नियुक्ति अधिकारी अपने कार्मिकों की सेवानिवृत्ति के 1 वर्ष पहले ।  
9कार्मिक एवं कार्यालय को पेंशन प्रकरण तैयार करने से पूर्व क्या ध्यान करे ।  कार्मिक का नाम सेवाभिलेख के अनुसार हो तथा पै मैनेजर, आधार कार्ड आदि में एक सा नाम एवं स्पेलिंग एवं जन्मतिथि का मिलान हो । कार्यालय एवं कार्मिक के लिए विस्तृत निर्देश पेंशन नियमों के परिशिष्ठ-8 व 11 क्रमशः में उल्लेखित है।  
1पेंशन विभाग में कुलक के साथ और क्या रिकॉर्ड भेजे ।कार्यालयाध्यक्ष/विभागाध्याक्ष सेवानिवृत होने वाले कार्मिक का पेंशन कुलक, सेवापुस्तिका, सेवानिवृत्ति आदेश की प्रति, विभागीय जांच बकाया न होने का प्रमाण पत्र, पे मैनेजर की वेतनपर्ची,employee ID, Office DDO code कुलक में मोबाईल नम्बर और लेखाकर्मी का प्रमाण पत्र सेवापुस्तिका में दर्ज करके भिजवावें ।
2सेवानिवृत होने वाला कार्मिक अपनी पेंशन कहा प्राप्त कर सकता है।कार्मिक अपनी इच्छा से भारतवर्ष में कही पर भी भारतीय मुद्रा में पेंशन प्राप्त कर सकता है । कोषालय का उल्लेख पेंशन कुलक में यथास्थान अपनी इच्छा से भरे।
3वर्तमान में न्यूनतम पेंशन राशि कितनी है ।सातवें वेतनमान के अनुसार रु. 8850/-न्यूनतम पेंशन है ।
4पेंशन के साथ क्या मिलता है ।स्वीकृत पेंशन के साथ महंगाई राहत और भुगतान होती है, जो समय-समय पर राज्य सरकार के आदेशों के अनुसार बढ़ती भी रहती है ।
5पेंशन स्वीकृति अधिकृतियां जारी होने के पश्चात कार्मिक क्या करें।पेंशन विभाग से अधिकृतियां मिलने के बाद तथा सेवानिवृत्ति के पश्चात कोषालय में जहां पेंशन भुगतान चाहा है/जो अघिकृति में उल्लेखित है वहां उपस्थित हो । साथ में अंतिम कार्यालय से जारी नो-ड्यूज, एलपीसी, जीए-55ए, आधारकार्ड, बैंक पास बुक छाया प्रति, संयुक्त फोटो-3 या 4, गवाह लेकर उपस्थित होवें ।
6पीपीओ पेंशन भुगतान आदेश में नाम, तिथि आदि में त्रुटि हो तो क्या करें ।तुरन्त अन्तिम कार्यालय एवं पेंशन विभाग को सूचित करें ।
7पूर्व में जारी पीपीओ में पत्नी के नाम जन्मतिथि में अन्तर हो या परिवर्तन आवश्यक हो तो कहा आवेदन करें ।पेंशनर अपने अंतिम कार्यालय जहां से सेवानिवृत्त हुआ है उस कार्यालय में आवेदन करे, सीधे पेंशन विभाग को नहीं ।  
8पीपीओ जारी हो चुका है परन्तु पेंशन आरम्भ नही हुई अथवा अब पेंशन नहीं आ रही है तो क्या करें ।पेंशनर कोषाधिकारी एवं बैंक से सम्पर्क करे एवं आवेदन करें, पेंशन विभाग में नहीं ।
9पेंशन राशि कम प्राप्त हुई, किसे कहे ।पेंशनर पहले बैंक में जहाँ उसका पेंशन का खाता है उस बैंक शाखा में सम्पर्क करें, बाद में समाधान न होने पर कोषालय को आवेदन करें ।
1स्वीकृत पीपीओ में पारिवारिक पेंशनर का नाम अंकित नहीं है तो क्या करेंअंतिम कार्यालय के माध्यम से आवेदन पेंशन अधिकृति जारी करने वाले कार्यालय को भिजवावे ।  
2पेंशन रूपान्तरण राशि 14 वर्ष कटौती के बाद भी कट रही है ।संबंधित बैंक एवं कोषालय को सूचित करें , पेंशन विभाग को नहीं ।
3पारिवारिक पेंशन की राशि कम हो गई है, क्या करें ।  स्वीकृत मूल पारिवारिक पेंशन अंतिम वेतन राशि की 30 प्रतिशत की दर से मिलती है। बढ़ी हुई पारिवारिक पेंशन मृत्यु के सात वर्ष तक अथवा सरकारी कर्मचारी की आयु यदि जीवित रहता तो 67 वर्ष का होता, जो भी घटना पहले आए व तब तक अंन्तिम वेतन का 50 प्रतिशत की दर से मिलती है बाद में साधारण दर 30 प्रतिशत की दर से मिलेगी।यदि कार्मिक ने सात वर्ष या ज्यादा की सेवा होने पर । 7 वर्ष से कम सेवा पर 30 प्रतिशत की दर से ही पारिवारिक पैशन प्रारम्भ से ही देय होगी  
4भूतपूर्व सैनिक जो बाद में राज्य सेवा से सेवानिवृत  हुआ के परिवार को राज्य सरकार की सेवा की पारिवारिक पेंशन देय है  जी हां, दिनांक 18.03.2015 से भूतपर्वू सैनिक जो राज्य सेवा से सेवानिवृत/सेवा में रहते मृत्यु होने पर परिवार राज्य सेवा एवं सैनिक सेवा की दोनों पारिवारिक पेंशन प्राप्त करेगा परन्तु न्यूनतम पारिवारिक पेंशन देय नहीं होगी केवल अंतिम वेतन के 30 प्रतिशत की दर से |  
5कर्मचारी की मृत्यु होने पर परिवार को पेंशन किसे पहले मिलेगी ।  प्रथम पति या पत्नी यथास्थिति, उसके अपात्र होने पर अथवा पीछे पति/पत्नी के न होने पर जन्मतिथि के अनुसार उम्र में बड़ी सन्तान को पहले (पात्रता रखता है तो ) उसके पश्चात बड़े से छोट के क्रम में । माता-पिता को, यदि मृतक कर्मचारी के पीछे न तो विधवा रही हो और न ही कोई संतान तो, पहले माता को पात्रता रखने पर ही ।
6एनपीएस कर्मचारी को पेंशन देय है?नहीं, एनपीएस कर्मचारी के सेवानिवृति पर केवल ग्रेच्युटी राज्य सरकार द्वारा देय होगी, सेवानिवृति/अधिवार्षिकी पेंशन देय नहीं होगी ।
7एनपीएस कर्मचारी की सेवा में रहते हुए मृत्यु होने पर पारिवारिक पेंशन मिलेगी क्या ?जी हां, एनपीएस कर्मचारी परिवार को पारिवारिक पेंशन तथा मृत्यु उपरान्त पुराने कर्मचारियों के अनुसार ही अस्थाई (प्रोवीजनल) रूप से देय होगी। एनपीएस का पुरा अंशदान (स्वयं एवं नियोक्ता का) राज्य सरकार को देना होगा ।
8मुझे पेंशन अधिकृति/पेंशन रिवीजन अधिकृति की जानकारी कैसे मिलेगी ।पेंशन प्रकरण पेंशन विभाग में रिसीट होने पर एसएमएस द्वारा मोबाईल पर प्राप्ति की जानकारी दी जाती है । इसके अलावा IFPMS वेबसाईट पर होम पेज पर जा कर वहां View Authority को क्लिक कर PPO/LR No./Empl ID या अन्य सलेक्ट कर fill (भरने) पर प्रकरण के स्टेटस की जानकारी पेंशनर स्वयं ले सकता है।